केसर के फायदे और उपयोग Benefits of Saffron (Kesar) in Hindi

परिचय 

केसर एक लोकप्रिय मशाला है स्वस्थ के लिए बहुत ही फायदेमंद है, केसर की खुसबू बहुत ही तेज होती है केसर का वैज्ञानिक नाम Crocus Sativus है केसर को विभिन्न प्रकार के व्यंजनों में डालकर खाया जाता है केसर का उपयोग मशाले और रंग एजेंट के रूप में किया जाता है। केसर दुनियां भर में अलग-अलग नामों से जाना जाता है हिंदी में इसे केसर, बंगाली में जाफरान, तमिल में कुमकुमपू, तेलगु में कुमकुमा पबबा और अरबी में जाफरान।  आगे हम केसर के लाभ व फायदों के बारे में जानेंगें। 
 

केसर की खेती  

विश्व का सबसे महंगा पौधा  केसर खेती भारत में जम्मू कश्मीर राज्य में की जाती हैं। केसर एक सुगंध देने वाला पौधा है। 

केसर का पौधा 

केसर को अंग्रेजी में सफ्रोन कहते हैं केसर का पौधा 15  से 25 सेंटीमीटर ऊँचा लेकिन कांड हीन होता है इसकी पत्तियां मूलभद्द Radical सकरी एवं लम्बी व नालीदार होती हैं इसके बीचो-बिच में पुष्प दंड scapre निकलता है उसपर नील रंग के  पुष्प निकलते हैं इसके ऊपर तीन कुज्झियां करीब एक इंच लम्बी गहरे लाल की होती हैं।

 

 

केसर के दाम 

दुनियां में मशालों में सबसे महंगा  केशर का नाम आता है कश्मीर देश का एकमात्र केसर उत्पादक राज्य है इसीलिए इसी लिए इसे कश्मीरी केशर  कहा जाता है। यहाँ  पर हर वर्ष 16-17  तन केसर का उत्पादन  होता है दुनियां में सबसे ज्यादा भूमध्य सागरीय  देश ईरान में केशर का सर्वाधिक उत्पादन होता है प्रतिशत के आधार पर ईरान करीब 90 प्रतिशत से भी ज्यादा उत्पादन करता है। 

भारत के कश्मीरी  केशर का भाव एक लाख 60 हजार रूपी से लेकर तीन लाख रूपी प्रति किलों ग्राम है ईरानी केसर हलके पिले रंग और कश्मीरी केसर लाल रंग का  होता है  कश्मीरी केसर ईरानी केशर कई गुना  महंगा होता है। 

 

केशर के फायदे 

केसर के फायदे प्रेग्मेंशी में 

प्राचीन समय से हमारे देश में गर्भवती महिलाओं को केशर के साथ दूध पिलाने से कमजोरी जाती है तथा  महिलाओं की पाचन क्रिया सुधरती है और उनकी रोग प्रतिरोधक छमता बढ़ती है। 

स्मरण सक्ति में फायदेमंद 

केशर से मस्तिष्क में विकसित  हो रहे amyloid beta पर प्रतिबन्ध लगता है  तथा आपके मष्तिष्क को (भूलने की समस्या) अल्जाइमर  जैसी बीमारी से बचाता है। यह आपके सिखने व स्मरण शक्ति को बढ़ाता है। केशर को आप दूध या चाय के साथ सेवन कर सकते हैं। 

आँखों की रोशनी बढ़ने में फायदेमंद 

ऑस्ट्रेलिया में एक शोध के दौरान २००९ में केशर  में कुछ ऐसे तत्व पाए गए जो आँखों के लिए अत्यधिक फायदेमन्द  होते हैं उम्र बढ़ने के साथ ही आँखों की रोशनी में कमी आती है, तो केशर किसी भी स्थिति में आँखों की रोशनी में कभी नहीं आने देता। ऐसी स्थिति में केशर को बिना  चिकित्षक की सलाह के बिना न लें। 

डिप्रेशन में फायदेमंद 

क्या आपको पता है कि हमारे शरीर में कुछ ऐसे यौगिक मौजूद होते हैं जो हमें खुस रखने में मदत करते हैं और उन्ही यौगिक तत्वों को बढाकर हम डिप्रेशन को हरा सकते हैं।  Pourteous  और विटामिन बी का प्रचुर स्रोत है जो Serotonin अन्य रसायनो का उत्पादन को बढाकर हमें खुश रखने में मदत करता है। 2005 अध्यन में यह पता चला की केशर औशाद जैसी बीमारी को हारने में मदत करता है।  दिन में पंद्रह मिली ग्राम का सेवन से डिप्रेसन को अलविदा कर सकते हैं। 
 

त्वचा में केसर के फायदे 

केसर में त्वचा का रंग को हल्का करने के गुण पाए जाते हैं केसर त्वचा को निखारने के साथ- साथ त्वचा में होने वाले रोगों को भी दूर करता है।  यदि आप अपनी त्वचा में रंगत लाना चाहते हैं तो आप थोड़े से दूध में केसर को 20-25  मिनट के लिए भिगो दें, अच्छी तरह भीग जाने के बाद उसमे एक चम्मच शहद मिलाकर अपने चेहरे पर लगाएं, और 10 मिनट बाद अपने चेहरे को धूल लें। 
 
 
इसके अलावा आप  केसर का फेश मास्क बनाकर भी लगा सकते हैं, केसर का मास्क बनाने के लिए चंदन  पाउडर में थोड़ा सा दूध व  केसर को मिलाकर एक गाढ़ा पेस्ट बनाकर इसे चेहरे पर लगाएं तथा 20-25 मिनट बाद इसे साफ़ पानी से धो लें, इस फेस मास्क को आप हफ्ते में दो से तीन बार प्रयोग में ला सकते हैं, इस फेस मास्क से त्वचा की नेचुरल सुंदरता निखरती है। 
 

केसर ह्रदय के लिए फायदेमंद 

केसर, ह्रदय के ब्लड प्रेसर को कण्ट्रोल में करके हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को कम करता है, यह रक्त प्रवाह को नियंत्रित करता है। केसर का उपयोग आप अपने नियमित आहार में कर सकते हैं जिससे आपका ह्रदय स्वस्थ रहेगा। केसर को नियमित खुराक के रूप में लेना चाहते है तो आपको अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लेना चाहिए। 
 

केसर के फायदे अस्थमा में 

अस्थमा रोग से गृसित लोगों को साँस लेने में कठिनाई होती है, तो ऐसे में केसर बहुत उपयोगी साबित हो सकता है केसर फेफड़ों में होने वाली जलन व सूजन से रहत दिलाता है यदि आप अस्थमा की कोई दवाई पहले से ले रहें है तो केसर लेने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लें। 
 
केसर श्वसन प्रणाली से सभी विकारों से निजात  दिलाता है,  दिन में तीन से चार बार केसर की चाय पिने से अस्थमा में काफी फायदा मिलता है 


केसर के फायदे पाचन प्रणाली में 

आज के समय में हर 10 व्यक्तियों में से 5 व्यक्तियों को अपने पेट की समस्या से परेशान रहते हैं केसर पाचन के विकारों में बहुत ही फायदेमंद है, केसर में ऐसे गुण पाए जाते है जो हमारे पेट की गैस व पाचन से सम्बंधित हर प्रकार की समस्या से निजात दिलाता है। 
 
चाय पिने का शौकीन हर इन्सान होता है लेकिन अगर उसी जगह पर केसर की चाय पि जाये तो यह काफी फायदेमंद  आपके पाचन को तंदरुस्त करने में मदत करता है। 
 

अनिद्रा में केसर के फायदे 

आज की भाग दौड़ जिंदगी में हर किसी को किसी न किसी चीज को लेकर मानसिक तौर पर परेशान रहता है  यही परेशानी उनको नींद नहीं आने देती जिससे उनको नींद न आने की समस्या हो जाती है। 
 
 
अनिद्रा एक ऐसी बीमारी है जो हमारे जीवन को अस्त व्यस्त कर देती है ऐसे में आप इस परेशानी में केसर का सहारा ले सकते हैं केसर एक गुणकारी औषधि है  दीमक को स्थगित रखने में मदत करेगी, अनिद्रा में आप सोने से पहले थोड़े से केसर एक गिलास दूध में डालकर 10 से 15  मिनट के लिए भिगो दें और मिठास अनुसार शहद या मीठा गुण मिलाकर इसका सेवन करें। 
 


केसर के फायदे उम्र काम करने में 

आयुर्वेद के अनुसार केसर उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को धीमा करता है अगर आप अपने आहार में केसर को किसी न किसी प्रकार से सेवन करते हैं तो आपकी उम्र ज्यादा होने पर भी जवान जैसे दिखेंगें।  केसर  में प्रचुर मात्रा में Antyoxident पाए जाते हैं जो  आने वाले कील मुहासों दाग धब्बों को पहले ही रोक देता है। 
 
अपनी त्वचा को निखार देने के लिए कच्चे पपीते के कुंदे में एक चुटकी केसर  मिला लें और अपने चेहरे पर लगा लें 15 से 20 मिनट बाद धूल लें। 
 

केसर बच्चों के लिए फायदेमंद 

केसर एक ऐसा मशाला है, जो सभी  उम्र के लोगों के लिए फायदेमंद है लेकिन केशर बच्चों की सेहत के लिए तो रामबाण की तरह साबित होता है।  बच्चों में अधिकतर देखा गया है की उनमे पेट से सम्बंधित कई प्रकार की समस्याएँ रहती हैं जिससे उनके रोगप्रतिरोधक छमता काफी ख़राब रहती है। 
 
इस लेख के द्वारा आपको यह पता चलेगा की बच्चों के लिए केसर कितना असरदार काम करता है जिससे बच्चे शारीरिक तथा मानसिक रूप से स्वस्थ रहेंगे। 
 
बच्चों में होने वाले सिरदर्द में चन्दन और केसर का लेप लगाने  से सिरदर्द में आराम मिलती है। 
 
छोटे बच्चों व नौजात शिशुओं में देखा जाता है की वह लगातार सर्दी जुखाम से ग्रसित  रहते हैं ऐसे में दूध में केसर मिलाकर माथे और नाक पर लेप लगाने से जल्द रहत मिलती है। 
 
लौंग व जायफल तथा केसर को मिलाकर बच्चों की छाती पर लगाने से बहुत जल्दी आराम मिलता है। 
 
कभी- कभी बच्चों को नींद नहीं आने की समस्या हो जाती है, अनिद्रा से निजात पाने के लिए बच्चों को रात में केसर और दूध मिलकर देने से उनकी अनिद्रा की  समस्या ठीक हो जाती है। 
 

केसर खाने के तरीके

 केसर को कई प्रकार से उपयोग में लाया जा सकता है,
 
  • यदि आप बिरियानी के शौकीन हैं तो आप उसमें केसर का इतेमाल कर सकते हैं। 
  • यदि  आप दूध के शौकीन हैं तो आप दूध से बने प्रोडक्ट जैसे खीर मिठाई आदि में  इस्तेमाल कर सकते हैं।
  •  केसर का इस्तेमाल पुलाओ चावल आदि में भी किया जा सकता है। 
  • हमने पहले भी बताया है की अदि आप चाय की शौकीन हैं तो आप केसर की चाय पि सकते हैं।
  •  रात में सोते समय या सुबह एक गिलास दूध के साथ इसका प्रयोग कर सकते हैं। 

केसर खाने के नुकसान 

केसर के इतने बहुमूल्य फायदे है तो जाहिर है की इसके कुछ नुकसान भी होंगे, किसी भी चीज का अधिक सेवन  करने से अगर कोई नुकसान होता है  तो इसमें कोईबड़ी बात नहीं है इसीलिए हमेशा केसर का सेवन करने से उसकी खुराक के बारे में जरूर पता करें, की आपको कितनी खुराक लेनी चाहिए। 
 
  • बच्चों को दूध पिलाने वाली महिलाएं केसर का सेवन करने से बचना चाहिए। 
  • गर्भवती महिलओं के लिए जितना फायदेमंद है वहीँ पर उनको केसर का सेवन अधिक नहीं करना चाहिए।
  •  गर्भवती महिलाओं को गर्भाशय सकुंचन व गर्भपात हो सकता है।
  •  गर्भवती महिलाओं को केसर का सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें।
केसर का सेवन  तीन से चार धागों  से अधिक नहीं करना चाहिए, केसर का अधिक सेवन करने से त्वचा व ऑंखें पिली पड़ जाती हैं।
 
 
 
 

Leave a Comment