मात्र दो प्याज से ही ठीक करें खूनी व बादी बवासीर के मस्सों को

मात्र दो प्याज से ही ठीक करें खूनी व बादी बवासीर के मस्सों को ( Heal bloody and bad piles with only two onions  in hindi )

वर्तमान समय में हमारा अनियमित खानपान तथा गलत दिनचर्या ने प्रत्येकोक व्यक्ति को रोग ग्रस्त कर दिया है। उन लोगों में से एक रोग पाइल्स यानी कि बावशीर भी है जो कि यह बीमारी खत्म होने का नाम ही नहीं लेती। हम अलग-अलग डॉक्टरों  इलाज कराते है, परंतु उनको इस बीमारी से पूरी तरीके से छुटकारा नहीं मिलता है।

कुछ लोग इसका डॉक्टरों से ऑपरेशन भी कराते हैं, परंतु उनको कुछ दिन के बाद फिर से समस्या का सामना करना पड़ता है। डॉक्टरों ने बवासीर के दो टाइप बताए हैं पहला अंदरूनी तथा दूसरा बाहरी परंतु इन दोनों में फर्क बस इतना है कि अंदरूनी बवासीर में मस्से नहीं दिखाई देते परंतु बाहरी बवासीर में गुदा से बाहर मुझसे दिखाई देते हैं।

इस रोग से मनुष्य के मल को त्याग करते समय खून निकलता है तथा उसे भयंकर दर्द से सामना करना पड़ता है। कई बार खून इतना अधिक आने लगता है, कि शरीर में खून की कमी हो जाती है और रोगी को कमजोरी जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है।

बाहरी बाबासीर में बड़े-बड़े मस्से हो जाते हैं जिससे जलन खुजली दर्द जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है। इस रोग से ग्रस्त व्यक्ति ना तो ठीक से खा पी पाता है ना ही लेट पाता है नहीं तो पाता है। डॉक्टरों ने बाहर के मस्सों के इलाज में काफी हद तक सफलता हासिल कर ली है परंतु अंदरूनी बवासीर का इलाज करना काफी मुश्किल होता है।

इसलिए हमने बवासीर के बाहरी तथा अंदरूनी मस्सों को जड़ से खत्म करने के लिए घरेलू उपाय के बारे में बताने वाला हूं, जिससे आपके बवासीर के मस्से पूरी तरह से ठीक हो जाएंगे। तो चलिए बवासीर के मस्सों को ठीक करने के लिए विभिन्न घरेलू उपायों के बारे में जानते हैं।

बवासीर के मस्सों को ठीक करने के घरेलू उपाय

बवासीर के मस्सों को ठीक करने के लिए नियमित दिनचर्या के साथ इलाज करना संभव है। डॉक्टरों ने फाइबर फूड को खाने के लिए सुझाव दिया है, जो कि बावशीर के मस्सों को ठीक करने में सहायता देते हैं। इसके अतिरिक्त अन्य तरीके हैं जो कि बवासीर के मस्सों को ठीक करने में सहायता देते हैं।

प्याज से खूनी व बादी बवासीर को ठीक करने में सहायक

खूनी तथा बादी बवासीर को प्याज से ठीक करने के लिए सबसे पहले आपको दो मीडियम साइज प्याज की आवश्यकता होगी। उन दोनों प्याज को किसी कंडे या लकड़ी की आग पर धीमी आंच पर अच्छे से भून लेना है। उसके बाद इन प्याज के छिलकों को छील लेना है। उसके बाद दोनों प्याज को मिक्सी में डालकर हल्का पीस लेना है।

उस पिसे हुए पेस्ट को अपने पुराने, गठीले बवासीर के मस्सों पर लगाएं। इस पेस्ट को कम से कम 20 से 25 मिनट बवासीर के मस्सों पर लगा रहने दें उसके बाद ठंडे पानी से धो लें या प्रक्रिया 3 से 4 दिनों तक लगातार अवश्य करें। यदि आप अच्छा रिजल्ट पाने के इच्छुक हैं, तो आप इसको 1 हफ्ते तक लगातार ट्राई कर सकते हैं आपको अच्छे परिणाम देखने को मिलेंगे।

दही या लस्सी बवासीर के मस्सों को ठीक करने में सहायक

दहिया लस्सी बवासीर के मस्सों को ठीक करने में सहायक साबित हो सकती है बवासीर रोगी को कच्चा प्याज के साथ लस्सी या दही खाने पर काफी आराम मिलता है। अच्छे परिणाम देखने के लिए आप इसका इस्तेमाल नियमित कर सकते हैं।

जामुन की गुठली बवासीर के मस्सों को ठीक करने में सहायक

जामुन की गुठली या आम की गुठली के अंदर वाले भाग को निकाल कर उसका चूर्ण बनाकर प्रत्येक दिन एक चम्मच पानी के साथ सेवन करने पर बवासीर के मस्सों को ठीक करने में सहायता मिलती है। अच्छे परिणाम के लिए प्रत्येक दिन आप डेढ़ चम्मच सेवन कर सकते हैं।

मूली खाने से बवासीर में आराम मिलता है

यदि आप कच्ची मूली का जूस निकालकर रोजाना सेवन करें तो आपको बवासीर के मस्सों से जल्द छुटकारा मिलेगा परंतु ध्यान रहे कि प्रत्येक दिन 20 से 60 ग्राम तक ही मूली के जूस का सेवन करें इससे अधिक करने पर आपको कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

इसबगोल भूसी बावसीर में आरामदायक होती है

ज्यादातर लोगों को बवासीर में समस्या तभी होती है जब उनका पेट साफ नहीं होता है, इसलिए आपको यदि पेट साफ ना होने की समस्या है, तो आप इसबगोल भूसी को गर्म पानी के साथ खाना खाने के बाद सेवन कर सकते हैं। जिससे आपका पेट साफ हो जाएगा और बवासीर में दर्द जैसी समस्या का सामना नहीं करना होगा।

किशमिश बवासीर में फायदेमंद

किशमिश बवासीर में आराम दिलाने में काफी फायदेमंद है, प्रत्येक दिन सोने से पहले आपको 100 ग्राम कितने पानी में भिगो कर रख दे और सुबह इसको पानी में अच्छे से मसलकर उस पानी का सेवन करें तथा इस प्रक्रिया को नियमित दौरा है आपको अच्छे परिणाम देखने को मिलेंगे।

इलाइची बवासीर के मस्सों को ठीक करने में सहायक

इलायची भी बवासीर के मस्सों को ठीक करने में सहायता देती है करीब 60 ग्राम बड़ी इलायची को तवे पर अच्छे से भूंज ले और भुनी हुई इलाइची को ठंडे होने के बाद में इसका चूर्ण बना लें चूर्ण बनाने के बाद आपको प्रतिदिन सुबह के समय खाली पेट पानी के साथ सेवन करें जल्द ही बावसीर के मस्सों में आराम मिलेगा।

बवासीर में क्या खाएं? (bawsir me kya khayen)

बवासीर से ग्रस्त होने पर किन-किन चीजों को खाना चाहिए और किन किन चीजों को नहीं खाना चाहिए तो चलिए जानते हैं-

क्या खाएं

सब्जियां- सब्जियों में आप चुकंदर टमाटर पालक गाजर मूली जिमीकंद तुरई आदि का सेवन कर सकते हैं।

जूस– दूध में आप करेले का जूस पी सकते हैं।

फल–  फलों में आप अमरूद, केला, आमला, पपीता, अनार, अंजीर, कच्चा नारियल इत्यादि का सेवन कर सकते हैं।

खाना– खाने में आप खिचड़ी, देसी घी, दही, चावल, दलिया, मूंग की दाल आदि का सेवन करें।

क्या न खाएं

यदि आप बवासीर का इलाज करा रहे हैं तो आप इन चीजों को खाने में इस्तेमाल ना करें नहीं तो आपको दुष्परिणाम देखने को मिलेंगे-

तेज मिर्च, मांस, मछली, उड़द की दाल, चटपटे खाने से परहेज करें तथा खटाई का बिल्कुल सेवन ना करें। इसके अतिरिक्त आलू, बैंगन तथा डिब्बाबंद चीजों का सेवन ना करें, शराब से दूरी बनाकर रखें चाय कॉफी का भी सेवन करने से बचें।

नोट- ध्यान रहे कि बताए गए सभी घरेलू उपायों को किसी आयुर्वेदिक विशेषज्ञ या डॉक्टर की सलाह से आजमाएं।

Leave a Comment

Live Updates COVID-19 CASES