योग के प्रमुख आसनों के नाम और उनके लाभ

Contents hide

मनुष्य के शरीर पर योग आसनो का क्या प्रभाव पड़ता है?

योग  केवल  रोगों से लड़ने में सछम नहीं बल्कि योग रोगों से लड़कर उसके साथ-साथ मनुस्य के मस्तिष्क से  तनाव  को दूर करता है और  मन को पवित्र बनाकर, आत्मा का ईश्वर से सम्बन्ध स्थपित करता है। 

योग किसी भी उम्र के स्वस्थ स्त्री व पुरुष कर सकता है, स्वस्थ सम्बन्धी परेशानियों में भी योग किया  जा  सकता है, योग हमारे लिए हर तरह से आवश्यक है। 

योग का उद्देश्य शरीर, मन और आत्मा के बिच संचालन अर्थात योग बनाना है आपको ईश्वर को जानना है, सत्य को जानना है, सिद्धियां प्राप्त करने हैं या सिर्फ स्वस्थ रहना हैं, तो पतंजलि कहते हैं की शुरुआत शरीर के ताल से ही करने चाहिए।  शरीर को बदलो मन बदलेगा 

योग से शरीर मजबूत और लचीला होता है, योग मांसपेशियों को संगठित और शरीर को संतुलित  रखता है, संगठित और संतुलित  लोचदार शरीर होने से कार्य छमता में वर्द्धि होती है।  

अपनी दिनचर्या में योग को शामिल करने से शरीर स्वस्थ रहता है जिससे हम भवष्य में आने वाली शारीरिक व मानसिक बिमारियों से बचे रहेंगे, योग आपकी स्वसन क्रिया को संतुलित बनाकर रखता है। 

दोस्तों योग सुरु कर दीजिये क्योंकि कल कभी नहीं आता विश्वास कीजिये  दस दिन के भीतर आप अपने जीवन में बदलाव देखेंगे, कुछ प्रमुख आसन और उनके लाभ। 

योग को विस्तार से जाने 

ताड़ासन Tadasan in hindi

 
यह ताड़ासन योग है इस आसन का नमे ताड के पेड़ के नाम पर रखा गया है, इस योग की अंतिम स्थिति में शरीर ताड के पेड़ के समान दीखता है, यह आसान आपके पेसियों और तंत्रिकाओं को फ़ैलाने का कार्य करता है जिससे आप दूसरे आसान को आप आसानी के साथ कर सकते हैं  ये आसान बच्चों की लम्बाई बढ़ने के लिए काफी फायदेमंद होता है। 
 
हस्तोत्तानासन Hastottanasana in hindi 
 
इस आसान में हाथों को ऊपर की ओर करते हुए करते हुए   फैलाया जाता है, कमर की  बढ़ी हुई चर्बी को कम करने के लिए यह बहुत कारगर योगासन है, यह रीढ़ की हड्डियों को लचीला बनता है और फेफड़ों की समस्या में लाभदायक है, 

कटिचक्करासन Katichkarasan in hindi

कटी का अर्थ कमर होता है इस आसन को करने से अपने बढ़ती कमर के साइज को रोक सकते है यह कब्ज़ और कमर के दर्द को कम करने में सहायक है। 

त्रिकोणासन Trigonasana in hindi

 

अगर आप कमर दर्द से परेशान है तो आपको त्रिकोण आसन करना चाहिए, इसके नियमित अभ्यास से आप अपना वजन कम कर सकते है यह आसन लम्बाई बढ़ाने में भी सहायक है, अगर आप इस आसान को किसी योग चिकित्सक की देख रेख में करते है तो आपकी साइटिका जैसी समस्या से निजात दिला सजकता है। 

 वृक्षासन Vrikshasana in hindi

इसका मतलब पेड़ होता है और इस आसान में एक पैर पर खड़े रहते है या आपके घुटनो और जोड़ो में बहुत लाभदायक है और साथ ही साथ इसको करने से लचीलापन भी बढ़ता है, यह आसान आपके मन को संत करने में भी सहायक है।  

पदमासन योग Padmasana yoga in hindi

यह आसन ध्यान के लिए काफी उत्तम योग माना गया है जहाँ पर शारीरिक गतिविधियां कम हो जाती है यह आसन मानसिक शांति एकाग्रता तथा स्मृत के लिए उत्तम है यह आसन कब्ज जैसी समस्या के लिए काफी फायदेमंद है। 

सिद्धासन Siddhasana in hindi

आसनो की दुनिया में सिद्धासन का महत्वा बहुत ज्यादा है सिद्धासन के अभयस से आप मोछ की प्राप्ति की ओर  जा सकते हैं सूछ्म नाड़ी प्रवाह एवं कुंडलिनी जागरण में भी लाभकारी है। 

वज्रासन Vajrasana in hindi

यह ध्यान योग है इस आसन के अभ्यास  से पाचन क्रिया के सुधर में तेजी अति है यह रीढ़ की हड्डी को सीधा रखने में मदत करता है और कमर दर्द से भी बचाता है। 

भद्रासन योग Bhadrasana Yoga in hindi

 
 
 इस योग आसन को करने से कमर के दर्द के साथ-साथ महिलाओं  की समस्याओं में लाभदायक साबित होता है ,   इस आसन को करने से प्रसव में आसानी होती है होती है। 

सिंघासन योग Singhasan Yoga in hindi

यह योगसन गर्दन एवं एवं चेहरे की पेसियों  के लिए बहुत लाभदायक है यह आंख गला और पेसियों के लिए भी काफी फायदेमंद होता है तथा थाइराइड की परेशानियों से भी बचाता है। 

वक्रासन Vakrasana in hindi

यह आसन रीढ़ की हड्डी के लिए  बहुत लाभदायक है और रीढ़ की सक्रियता को बढ़ता है  यह अग्नाशय को सक्रीय करते हुए डाइबिटीस के लिए उपयोगी है। 
 

पश्चिमोत्तानासन Paschimottanasan in hindi

 

यह पेट इस योग आसन को करने से पेट की पेसियां मजबूत होती है इसके साथ मोटापा, कब्ज,साइटिका जैसी समस्याओं में लाभदायक है।  
 
उष्ट्रसन योग Usttrasana Yoga in hindi
 
कमर दर्द एवं गर्दन के दर्द में उपयोगी है, पेट से चर्बी को कम करके मोटापा घटता है यह फेफड़ों के लिए भी लाभकारी है। 
 
मंडूक आसन योग Mandook Asana Yoga in hindi
मंडूक का अर्थ होता है मेढक कयोंकि अंतिम मुद्रा में शरीर मेढक की मुद्रा ग्रहण कर लेता है, यह आसन पेट के रोगों के लिए लाभकारी है इसके नियमित अभ्यास से आप अपने तोंद को कम कर सकते हैं यह पेट की जहरीली गैसों को निकलने में सहायक है।  

भुजंगासन योग Bhujangasana Yoga in hindi

इसको कोबरा पोज भी कहा जाता है कयोंकि इसकी अंतिम मुद्रा किसी नाग की तरह लगती है यह पीठ की पेसियों को मजबूत बनाता है यह स्लिप डिस्क और पीठ दर्द में लाभकारी है, स्त्री रोग को दूर करने के लिए यह उत्तम योग अभ्यास है या अंडाशय और गर्भाशय क मजबूत करता है तथा अन्य स्त्री रोग एवं विकारों में सहायता करता है। 

सलभासन योग Salabhasana yoga in hindi


यह योग कमर दर्द क कम करता है कब्ज एवं पाचन को सुधरता है फेफड़ों को स्वस्थ रखते हुए दमा रोगियों के लिए लाभकारी है। 

धनुरासन Dhanurasan in hindi


इस आसन की अंतिम अवस्थ में शरीर धनुस का आकर ले लेता है इस लिए इस आसन का नाम धनुरासन है, यह यकृति और प्लीहा की मालिश करता है इसके कारन मधुमेह रोगियों के लिए उपयोगी है रीढ़ की हड्डी को मजबूत बनता है और पाचन क्रिया को सुधरता है इसके साथ उत्सर्जन प्रजनन के रोगों के उपचार में बी सहायक है। 
 

उतान पदासन योग Utan Padasana Yoga in hindi

अगर इस आसन को नियमित रूप से किया जाये तो यह शरीर के मोटापे को कम करने के साथ साथ एबीएस बनाने में मदत करता है यह पेट दर्द अपच घबराहट आदि जैसी चीजों में बहुत कारगर है। 

पवनमुक्तासन योग Pawanmuktasana Yoga in hindi

इस आसन के अभ्यास से पेट की जहरीली गैसें निकल जाती हैं यह कब्ज और मोटापे में सहायक है यह रीढ़ की हड्डी को लचीला  बनाता है। 
 
सर्वांगसन sarvangasan in hindi

इस योग को नियमित रूप से करने से उम्र की बढ़ती गति को धीमा किया जा सकता है यह आसन सफ़ेद बालों की समस्या से निजात दिलाता है यह गैस अपचा बवासीर जैसी समस्याओं में भी फायदेमंद है।  
 

सेतुबंध सर्गासन योग 

यह पीठ दर्द को कम करने के लिए उपयोगी आसान है, जो लोग डिप्रेसन से ग्रसित हैं उनको इस आसान को नियमित अभ्यास करना चाहिए इससे स्त्री जननांग मजबूत होते है। 
 

शीर्षासन योग sirshasan in hindi

यह एक अकेला योग आसन है जो अन्तःश्रावी ग्रंथियों को कंट्रोल करता है, यादास्त को बढ़ने एवं तंत्रिका तंत्र को मजबूत करने में उपयोगी है यह योग पितृउतरि ग्लैंड को स्वस्थ बनाते हुए आपके हार्मोनल डिसऑर्डर को रोकता है। 

नौकासन योग Naukasana yoga in hindi

इस आसन में शरीर की आकृति नौका के समान हो जाती है इसलिए इसको नौकासन योग कहा जाता है यह आसन कमर के आसपास की चर्बी को कम करता है और किडनी को स्वस्थ रखने में बहुत मदत करता है और पाचन सकती को बढ़ता है। 

1 thought on “योग के प्रमुख आसनों के नाम और उनके लाभ”

Leave a Comment

Live Updates COVID-19 CASES